डॉ. रमन सिंह

विशाल जनसभा म प्रधानमंत्री ह डॉ. अम्बेडकर ल दीन श्रद्धांजलि

रायपुर, 14 अपरेल 2018। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ह आज छत्तीसगढ़ के बस्तर संभाग के ग्राम जांगला (जिला-बीजापुर) म भारतीय संविधान के बनइया बाबा साहब डॉ. भीमराव अम्बेडकर के जयंती म ओ मन ल सुरता करत ऊंखर फोटू म माल्यार्पण करके श्रद्धांजलि दीन। उमन कहिन -आज 14 अप्रैल के दिन देश के सवा सौ करोड़ मनखे मन बर बहुत महत्वपूर्ण हे। बाबा साहब के जन्म जयंती म मोला इहां आप मन के बीच आए के सौभाग्य मिलीस। विकास के दौड़ म जऊन पीछू छूट गए रहिन या छोड़ देहे गए रहिन, ओमां आज विकास अऊ अधिकार के आकांक्षा जागे हे। ये चेतना घलोक डॉ. अम्बेडकर के देन हे।
आप मन जानतेच होहू के प्रधानमंत्री बने के बाद श्री मोदी के ये वाले चउंथा छत्तीसगढ़ प्रवास हे। उमन आज ग्राम जांगला के जनसभा म अपन पाछू 21 फरवरी 2016 के छत्तीसगढ़ दौरा ल सुरता करत कहिन कि ओ यात्रा म डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी रूर्बन मिशन अऊ प्रधानमंत्री आवास योजना के शुरूआत छत्तीसगढ़ के धरती ले करे गए रहिस। दुनों योजना देश के प्रगति ल गति देत हे। श्री मोदी ह बाबा साहब डॉ. भीमराव अम्बेडकर के व्यक्तित्व अऊ कृतित्व म घलोक प्रकाश डालिन। उमन कहिन -बाबा साहब बहुत पढ़े-लिखे विद्वान मनखे रहिन। कहूं ओ मन चाहतिन त दुनिया म कहूं ऐशो-आराम के जिंदगी बिता सकत रहिन, फेर उमन विदेशी धरती म पढ़ाई-लिखाई करे के बाद स्वदेश वापस आके अपन पूरा जीवन वंचित अऊ दलित मन के स्वाभिमान बर अऊ ओ मन ल मुख्य धारा ले जोरे बर, ओ मन ल जीए के अधिकार देवाए बर समर्पित कर दीन। श्री मोदी ह कहिन -एक गरीब के बेटा, पिछड़े तबके ले आने वाला आप मन के ये साथी आज कहूं प्रधानमंत्री के रूप म आप मन के आघू खड़े हे तो ये मां घलोक बाबा साहब के बड़ योगदान हे।

मुहाचाही:  मुख्यमंत्री अऊ केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री संग मंत्री अऊ अधिकारी मन ह शहीद मन ल दीन श्रद्धांजलि

हल्बी बोली म करिन भाषण के शुरूआत : श्री मोदी ह बस्तर के अमर शहीद मन ल सुरता करिन
श्री मोदी ह जनसभा म अपन उद्बोधन के शुरूआत बस्तर अंचल के प्रमुख सम्पर्क बोली ‘हल्बी’ म करिन। उमन बस्तरवासी मन के आराध्य देवी मां दन्तेश्वरी संग भैरमगढ़ के भैरमदेव संग अंचल के आन देवी-देवता मन ल प्रणाम करत हल्बी म कहिन -सियान-सजन, दादा-दीदी मनचो जोहार, लेका-लेकी मनचो खूबे खूब मया। श्री मोदी ह कहिन -इहां के वो सबो देवी-देवता मन ल मैं सादर नमन करत हंव, जेमन बस्तरवासी मन ल प्रकृति के संग रहना सिखाए हे। श्री मोदी ह अंग्रेज हुकूमत के खिलाफ आजादी के लड़ाई म अपन प्राण न्यौछावर करइया बस्तर अंचल के ही अमर शहीद गैंद सिंह अऊ वीर गुंडाधूर ल घलोक याद करिन। प्रधानमंत्री ह कहिन कि अइसन बहुत अकन लोक नायक मन के शौर्य गाथा ए अंचल म पीढ़ी-दर-पीढ़ी विस्तार पात रहे हे अऊ स्वाभिमान अउ पराक्रम के गाथा लिखे गए हे। श्री मोदी ह नक्सल हिंसा पीड़ित बस्तर संभाग म स्कूल-अस्पताल अऊ सड़क निर्माण जइसे विकास के काम मन म सुरक्षा प्रदान करत होए बहुत अकन पुलिस कर्मी मन के शहादत के घलोक जिक्र करिन।

जनता के सुविधा बर खनन कानून म बदलाव
उमन कहिन -देश के आजादी के लड़ाई म आदिवासी मन के घलोक बहुत महत्वपूर्ण योगदान रहे हे। केन्द्र सरकार ह पहली पइत आदिवासी स्वतंत्रता संग्राम सेनानी मन के संघर्ष गाथा के जानकारी आम जनता ल देहे बर संग्रहालय बनाए के निर्णय लेहे हे। उमन कहिन -जल, जंगल अऊ जमीन आदिवासी मन के अधिकार हे। केन्द्र सरकार ह जुन्ना खनन कानून म बदलाव करत ये घलोक प्रावधान करे हें कि अब जऊन इलाका म जऊन खनिज निकलही, ओखर एक निश्चित हिस्सा खदान बहुल क्षेत्र मन म विकास के काम मन म खर्च करे जाही। ये प्रावधान जनता के सुविधा बर करे गए हे। एखर बर प्रधानमंत्री खनिज क्षेत्र कल्याण कोष के गठन करे गए हे। ए कोष ले देहे गए 60 प्रतिशत राशि पर्यावरण, स्वास्थ्य, महिला अउ बाल कल्याण अउ शिक्षा जइसे काम मन म खर्च करे जाही। छत्तीसगढ़ ल ए कोष ले अब तक तीन हजार करोड़ रूपिया ले जादा राशि देहे गए हे।

मुहाचाही:  धर्मेन्द्र कुमार घलोक कर सकही अपन गांव के गली मन के सैर

श्री मोदी ह कहिन कि केन्द्र सरकार ह देश के आदिवासी क्षेत्र मन म शिक्षा सुविधा मन के विकास म विशेष जोर देहे हें। हमन निर्णय लेहे हवन के साल 2022 तक देश म 50 प्रतिशत ले जादा आदिवासी आबादी वाले हर विकासखण्ड म या फिर अइसन विकासखण्ड म जिहां कम से कम बीस हजार के जनसंख्या आदिवासी मन के होही, उहां एकलव्य आवासीय विद्यालय खोले जाही। प्रधानमंत्री ह आज ग्राम जांगला प्रवास के समय भारतीय स्टेट बैंक के नवा शाखा के घलोक शुभारंभ करिन। उमन कहिन -आर्थिक असंतुलन ल खतम करे अऊ आर्थिक सशक्तिकरण बर बैंक एक अच्छा माध्यम हे। केन्द्र सरकार कोति ले अइसन इलाका मन म बैंक शाखा मन के विस्तार के संगें-संग अब देश के डाकघर मन म घलोक बैंकिंग सेवा के शुरूआत करत हे। श्री मोदी ह महिला सशक्तिकरण बर देश म होवत काम मन के उल्लेख करत छत्तीसगढ़ म ए दिशा म चलत प्रयास मन के घलोक तारीफ करिन। उमन कहिन कि आज मोला जांगला म छत्तीसगढ़ के बेटी सविता साहू के ई-रिक्शा म सवारी करे के सौभाग्य मिलीस। सविता ह कभू हार नइ मानिस अऊ स्वावलंबन बर ई-रिक्शा ल अपनाइन। उज्ज्वला योजना के तहत छत्तीसगढ़ म अब तक 18 लाख ले जादा महिला मन ल रसोई गैस कनेक्शन देहे गए हे। सुकन्या समृद्धि योजना अऊ स्वच्छ भारत मिशन ले घलोक महिला सशक्तिकरण के दिशा म तेजी ले सफलता मिलत हे।