बृजमोहन अग्रवाल

राज्य के नदिया मन के उद्गम स्थल के होही पुनर्जीवन

जल संसाधन मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ह बनाइस कार्ययोजना, शासन के आदेश होइस जारी

रायपुर, 03.04.2018। प्रदेश के जल संसाधन मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ह जल संरक्षण अऊ संवर्धन के दिशा म आगू बढ़त एक अभिनव कार्ययोजना बनाए हे। जेखर तहत छत्तीसगढ़ राज्य के प्रमुख नदिया जेकर उद्गम स्थल छत्तीसगढ़ राज्ये म हे वो नदिया मन के उद्गम स्थल के पुनर्जीवन अउ ऊंखर जल ग्रहण क्षेत्र के विकास बर प्रदेश स्तर के समूह बनाके योजनाबद्ध ढंग ले काम करे जाही।
ए समूह म विभागीय तकनीकी अधिकारी मन के संगें-संग समाज के कई क्षेत्र मन म कार्यरत प्रबुद्धजन जइसे इतिहासकार, साहित्यकार, लेखक, पत्रकार, पर्यावरण संरक्षण के क्षेत्र म काम करत समाजसेवी मन अउ समाजसेवी संस्था मन के वरिष्ठ मनखे मन ल सामिल करे जाही।



श्री अग्रवाल ह सचिव जल संसाधन ल पत्र लिखके एखर बर कार्य योजना तैयार करे के निर्देश दीए रहिन। जेमा उमन मुख्य अभियंता स्तर के अधिकारी ल नोडल अधिकारी बनाए जाय अउ टीम के गठन लउहे करे बर कहे रहिन। ए संबंध म 2 मार्च 2018 के दिन संयुक्त सचिव जल संसाधन विभाग ह आदेश जारी कर देहे हे। जेखर अनुसार मुख्य अभियंता महानदी जलाशय परियोजना रायपुर एस.वी. भागवत ल नोडल अधिकारी बनाए गए हे। संगेच नदी विशेष कार्य योजना बर संबंधित अधीक्षण अभियंता स्तर के अधिकारी मन वन विभाग अउ आन विभाग मन ले समन्वय स्थापित करहीं।
ए कार्ययोजना के बारे म जल संसाधन मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ह कहिन कि नदिया हमर जीवन के लकीर हे। एखर सेती जीवनदायिनी नदिया मन ल बचाय बर हम सरलग प्रयासरत हन। एकरे तहत नदिया मन के उद्गम स्थल ल स्वच्छ करत ओला पुनर्जीवित करके जल प्रवाह अनवरत रहय ये सुनिश्चित करे बर ये हमर एक प्रयास हे। ए अभियान ल समाज के प्रबुद्धवर्ग के सहयोग अऊ मार्गदर्शन लेत आगू बढ़ाबोन।


मुहाचाही:  रायपुर दक्षिण विधानसभा म बगरत हे विकास के नवा अंजोर