छत्तीसगढ़ राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग

बाल अधिकार संरक्षण आयोग के चौपाल : लइका मन के अधिकार मन बर समाज म जागरूकता लाय के पहल

रायपुर, 02 अपरेल 2018। छत्तीसगढ़ राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग के अध्यक्ष श्रीमती प्रभा दुबे आज रायपुर जिला के ग्राम धरसीवा म गांव वाले मन अऊ लइका मन बर आयोजित चौपाल कार्यक्रम म सामिल होइन। उमन चौपाल म लइका मन के अधिकार अऊ ऊंखर संरक्षण ले जुड़े कानूनी पहलू मन उपर चर्चा करिन। उमन गांव वाले मन ले बाल भिक्षावृत्ति, नशावृत्ति, जइसे बुराई मन ल समाज ले निकाल फेके बर एकजुट होके सहयोग करे के अपील करिन।



उमन कहिन कि लइका मन ल ऊंखर अधिकार अऊ कर्त्तव्य मन के बारे म जागरूक करे के पहल घर ले ही करना होही ताकि लइका संस्कारवान नागरिक बन सकय। लइका मन ल शोषण ले बचाय बर पारिवारिक स्तर म बातचीत घलोक जरूरी हे अऊ एखर बर समाज के हर मनखे ल जागरूक होना चाही। ए कार्यक्रम म धरसीवा के गांव वाले मन ह बढ़चढ़ के हिस्सा लीन। गांव के सरपंच श्री करीम खान ह आयोग कोति ले आयोजित ए कार्यक्रम के प्रशंसा करिन अऊ कहिन कि हम सब ए मुहीम म आयोग के संग हे।
आप मन जानतेच होहू के ए चौपाल आयोजन छत्तीसगढ़ बाल संरक्षण आयोग कोति ले लइका मन अऊ गांव वाले मन ल बाल अधिकार ले जुड़े अऊ सुरक्षा ले जुड़े कई ठन कानून विशेषकर किशोर न्याय अधिनियम, पॉक्सो एक्ट, शिक्षा के अधिकार आदि के बारे म जागरूक करे के उद्देश्य ले करे गीस। ए कार्यक्रम म आयोग के सदस्य श्रीमती इन्दिरा जैन, परियोजना अधिकारी श्री रविन्द्र ताम्रकार, पर्यवेक्षक अऊ आंगनबाड़ी कार्यकर्ता मन संग बड़ संख्या म लइका अऊ ग्रामीण मौजूद रहिन।


मुहाचाही:  बाल अधिकार संरक्षण आयोग के अध्यक्ष करिस आश्रय गृह के निरीक्षण