prashasan Yojana अजय सिंह

प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम योजना : मुख्य सचिव ह लीन राज्य स्तरीय अधिकार प्राप्त समिति के बैठक

रायपुर, 5 अप्रैल 2018। मुख्य सचिव श्री अजय सिंह के अध्यक्षता म आज इहां महानदी भवन म प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम योजना के राज्य स्तरीय अधिकार प्राप्त समिति (निगरानी समिति) के बैठक पूरा होइस। मुख्य सचिव ह वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम ले ए योजना के तहत सामिल जिला मन के जिला कलेक्टर मन अऊ जिला पंचायत मन के मुख्य कार्यपालन अधिकारी मन ल निर्देश दीन हे कि ओ मन नियमित रूप ले बैठक लेके योजना के निगरानी करव अऊ क्रियान्वयन म होवत कठिनाइ अऊ समस्या मन के निराकरण करव।



बैठक म आदिम जाति कल्याण विभाग के विशेष सचिव श्रीमती रीना बाबा साहेब कंगाले ह बताइस कि भारत सरकार कोति ले देश के अइसन 2500 गांव मन म प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम योजना संचालित करे जात हे जिहां अनुसूचित जाति के जनसंख्या 50 प्रतिशत ले जादा होवय। ए योजना म छत्तीसगढ़ के 175 गांव सामिल हे। श्रीमती कंगाले ह बताइस कि साल 2015-16 म योजना के पहिली चरण म राज्य के तीन जिला मन के 100 गांव मन ल सामिल करे गए रहिस। जेमां बलौदाबाजार भाटापारा के 40 अउ बेमेतरा अऊ 30 जांजगीर चाम्पा जिला के 30-30 ग्राम सामिल हे। अइसनहे साल 2016-17 म दूसर चरण म 75 ग्राम सामिल करे गीस जेमां मुंगेली के 40 अऊ बिलासपुर के 35 गांव मन ल सामिल करे गए हे।



योजना के तहत घर, पेयजल, विद्युत, शिक्षा, स्वास्थ्य, सामाजिक आर्थिक विकास अऊ अधोसंरचना के काम करे जात हे। योजना के तहत जिला स्तर म हर एक गांव बर आन शासकीय योजना मन ल सामिल करत ओ गांव के जरूरत अऊ प्राथमिकता के आधार म भिन्न भिन्न कार्य योजनाएं तैयार करे जाथे। ए योजना के तहत 15 प्रकार के सूचकांक हे जेकर आधार म योजना के प्रगति उपर निगरानी रखे जाथे। ये 15 सूचकांक हे जेमां पहिली तीन बछर म गरीबी लकीर के नीचे जीवन यापन करइया परिवार मन के संख्या म 50 प्रतिशत के गिरावट, सार्वभौमिक वयस्क साक्षरता, प्राथमिक स्तर म लइका मन के शत प्रतिशत शाला प्रवेश, मातृ मृत्यु दर ल कम करके 100 प्रति लाख अऊ शिशु मृत्यु दर ल कम करके 30 प्रति 1000, प्रधानमंन्त्री आवास योजना के तहत शत प्रतिशत घर, स्वच्छ भारत अभियान के तहत शत प्रतिशत ओडीएफ, शत प्रतिशत संस्थागत प्रसव, शत प्रतिशत टीकाकरण, जन्म मृत्यु के शत प्रतिशत पंजीयन, साल भर संचालित हो सकइया पहुंच मार्ग, शत प्रतिशत कुपोषण ले मुक्ति, बाल श्रम, बाल विवाह अऊ नशा म पूर्णतः प्रतिबंध।


मुहाचाही:  पंचायत प्रतिनिधि मन ह देखिन रायपुर अऊ नया रायपुर