Success Stories Success story अम्बिकापुर

रतिलो पक्का मकान मिले ले हो गीस गदगद

अम्बिकापुर, 18 जून 2018। लुण्ड्रा जनपद के पुरकेला बांव के रहईया सियान दाई रतिलो बाई ल प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत पक्का आवास मिले म वो ह बिकट गदगद हे। ए लम्बा उमर के संग कच्चा झोपड़ी म रहइ म बरसा के दिन म ओला कई ठन दिक्‍कत के सामना करना परत रहिस हे, काबर के सही समय म मकान के मरम्मत नइ हो पात रहिस। रतिलो ल शासन ह पक्का मकान देहे हे अब वो खुसी-खुसी सरकार ल असीस देवत अपन जीवन व्यतीत करत हे।




वो ह अपन जीवन के नौ दसक कच्चा झोपड़ीच म बिताये ल मजबूर रही रहिस। करीबन 90 बछर के रतिलो अकेला हे अउ ओखर परिवार म अऊ कोनो सदस्य नइ हे। उमर के ए पड़ाव म पहुंच जाय के बाद ओखर बर झोपड़ी के रख-रखाव करना घलोक कठिन हो गए रहिस। बरसात के दिन म झोपड़ी ले पानी चूहे के सेती ओखर परेसानी अऊ बाढ़ जात रहिस।
सियानिन रतिलो ह कभू सोंचे घलोक नइ रहिस के ओला ए जीवन म बिना पइसा के पक्का मकान मिलही। पक्का मकान के संगेच रतिलो तीर रासनकार्ड घलव हे, जेखर माध्यम ले ओला हर महीना 10 किलोग्राम चांउर मिलथे। प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के तहत रतिलो ल रसोई गैस घलोक देहे गए हे। रतिलो ल हर महीना वृद्धापेंसन घलोक मिलथे। ओखर पास निःशुल्क इलाज बर स्मार्टकार्ड घलोक हे जेखर माध्यम ले 50 हजार रूपिया तक के निःशुल्क स्वास्थ्य सुविधा मिलही।

मुहाचाही:  दिन के सूरूज ले रात ल रोशनी