Yojana

सौभाग्य योजना: छत्तीसगढ़ म अब तक 1.86 लाख ले जादा घर ल मिलीस बिजली के कनेक्शन

रायपुर, 5 अप्रैल 2018। प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना (सौभाग्य) शुरू होए के बाद छत्तीसगढ़ म एक लाख 86 हजार ले जादा गरीब मन के घर ल बिजली के कनेक्शन देके रौशन करे गए हे। आप मन ल बता देवन के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी कोति ले 25 सितंबर 2017 ले ए योजना के घोषणा करे गए रहिस। उंखर घोषणा म अमल बर छत्तीसगढ़ सरकार ह तत्परता ले तैयारी शुरू करिस। योजना के तहत राज्य म एक अप्रैल ले शुरू होए नवा वित्तीय साल 2018-19 म छै लाख 24 हजार 806 विद्युत विहीन घर मन ल बिजली के कनेक्शन देहे के लक्ष्य हे। राज्य विद्युत वितरण कंपनी के अधिकारी मन के मुताबिक 04 अप्रैल 2018 तक योजना के तहत एक लाख 86 हजार 538 घर मन ल रौशन करे जा चुके हे। प्रदेश के करीबन 45 हजार परिवार अइसन क्षेत्र मन म निवास करथें, जिहां बिजली के लाइन पहुंचाना तकनीकी रूप ले संभव नइ हे। अइसन घर मन ल सौर ऊर्जा प्रणाली के संग रौशन करे जाही।



योजना के निःशुल्क लाभ वो हितग्राही मन ल देहे जात हे, जिंकर नाम साल 2011 के सामाजिक-आर्थिक गणना के सूची म सामिल हे। जिंकर नाम ओ सूची म नइ हे उंखर मेर 500 रूपिया शुल्क लेहे जात हे, जऊन 50 रूपिया के दस किश्त म जमा करना होही। हर कनेक्शन के संग पांच एलईडी बल्ब अऊ एक पंखा देहे जाही। जऊन घर मन म सोलर कनेक्शन दे जाही उहां 200 ले 300 डब्ल्यू पी के एक सोलर पावरपैक बैटरी अऊ डीसी ले चललइया एक पंखा देहे जाही। ए योजना के लाभ देवाए बर गांव मन म शिविर लगाए जात हे। आवेदन भरइया मन ल आधार कार्ड, वोटर आईडी कार्ड पहिचान पत्र के रूप म जमा करना होही। बिजली विभाग के वेबसाईट सीएसपीडीसीएल डॉट ल डॉट ए म ऑनलाइन आवेदन भरे के सुविधा घलोक दे गए हे।
लोक सुराज अभियान म सौभाग्य योजना के तहत निःशुल्क विद्युत कनेक्शन देहे के काम प्राथमिकता ले करे गए हे। मुंगेली जिला के लोरमी विकासखंड के ग्राम बुधवारा के सुनीता, देवकी यादव, भगौतीन, रामप्रसाद, शिवदयाल आदि गरीबी लकीर ले नीचे जीवनयापन करइया मनखे मन ल अभियान के समय ही विद्युत कनेक्शन मिलीस। आवेदन पत्र देहे म तुरंते ऊंखर घर मन म बिजली कनेक्शन देहे गीस। जांजगीर चांपा जिला के ग्राम गोधना निवासी अशोक कुमार, लोकेश्वर साहू अइसन हितग्राही हे, जिंकर नाम साल 2011 के सर्वेक्षण सूची म नइ रहिस। ओ मन ल सिरिफ 50 रूपिया के दस मासिक किश्त म योजना के लाभ मिलीस। रोजी मजदूरी करइया अशोक ह बताइस कि ओ मन ल विद्युत कनेक्शन बर पइया जमा नइ करे ल परिस अऊ न ही बिजली कार्यालय तक जाए ल परिस। अपन परिवार के भरण पोषण के संग वो 50 रूपिया के मासिक किश्त आसानी ले जमा कर सकही। योजना ले लाभांवित सुनीता, देवकी आदि महिला मन के कहना हे कि लालटेन अऊ चिमनी के रौशनी ले संझा के भोजन पकाना मुश्किल होत रहिस। विशेषकर बारिश के दिन मन म बहुत दिक्कत होत रहिस। अब सौभाग्य योजना ले उंखर समस्या दूर हो गीस। लइका मन के पढ़ाई घलोक आसानी ले होही अउर ऊंखर घर मन के सुरक्षा घलोक अच्छा होही। घर-घर बिजली पहुंचे ले शैक्षणिक स्थिति म सुधार होवत हे अउर रेडियो, टेलीविजन, मोबाइल ले संचार के साधन बेहतर होवत हे अऊ रोजगार के अवसर घलोक बाढ़त हे।



योजना के तहत अब तक बस्तर जिला म 15 हजार 181 घर मन ल रौशन करे जा चुके हे। रायगढ़ जिला म 14 हजार 479, बलौदाबाजार म 12 हजार 89, बिलासपुर म 10 हजार 846, दंतेवाड़ा म 9 हजार 667, राजनांदगांव म 09 हजार 845, कोण्डागांव म 8 हजार 478, सरगुजा म 10 हजार 235, बेमेतरा म 9 हजार 23, सूरजपुर म 8 हजार 62, जशपुर म 8 हजार 52, गरियाबंद म 6 हजार 334, कबीरधाम म 7 हजार 233, कोरबा म 6 हजार 264, कांकेर म 6 हजार 124, मुंगेली म 5 हजार 514, बालोद म 4 हजार 775, रायपुर म 4 हजार 482, बीजापुर म 4 हजार 105, दुर्ग म 4 हजार 332, जांजगीर-चांपा म 4 हजार 10, कोरिया म 4 हजार 13, बलरामपुर म 3 हजार 543, नारायणपुर म 2 हजार 756, सुकमा म 3 हजार 481, महासमुंद म 2 हजार 110, धमतरी म 905 घरों म बिजली कनेक्शन दे गए हे।


मुहाचाही:  सौर सुजला योजना ले बदलत हे किसान मन के तकदीर