किसान

सोयाबीन के जादा उत्पादन देवइया किस्म मन ल विकसित करंय वैज्ञानिक: डॉ. पाटील

रायपुर, 15 मार्च 2018। इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय रायपुर अऊ भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद – भारतीय सोयाबीन अनुसंधान संस्थान, इंदौर के संयुक्त तत्वावधान म तीन दिन के अखिल भारतीय समन्वित सोयाबीन अनुसंधान परियोजना के 48वां वार्षिक समूह बैठक आज इहां कृषि महाविद्यालय रायपुर के सभागार म चालू होइस। वार्षिक बैठक के शुभारंभ सत्र ल मुख्य अतिथि के आसंदी ले संबोधित करत इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय रायपुर के कुलपति डॉ. एस.के. पाटील ह देश म सोयाबीन के रकबा, उत्पादन अऊ उत्पादकता मे कमी उपर चिन्ता जतात सोयाबीन के जादा उत्पादन देवइया नवीन किस्म विकसित करे अऊ ओ मन ल किसान मन तक पहुंचाए के आव्हान करिन। बैठक के अध्यक्षता भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद – भारतीय सोयाबीन अनुसंधान संस्थान, इंदौर के निदेशक डॉ. व्ही.एस. भाटिया ह करिन। भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद नई दिल्ली के सहायक महानिदेशक (बीज) डॉ. डी.के. यादव विशिष्ट अतिथि के रूप म उपस्थित रहिन। बैठक म सोयाबीन परियोजना के तहत देश भर म संचालित 22 केन्द्र मन के प्रतिनिधि सामिल होइन।



मुहाचाही:  कृषि वैज्ञानिक मन ह किसान मन ल बताइन धान बीज मन के घरेलू उपचार के विधि