बृजमोहन अग्रवाल सोनमणि बोरा

हमर सिंचाई योजना मन ल मिलत हे देश के सराहना -बृजमोहन 

राष्ट्रीय वाटर डाइजेस्ट अवार्ड मिले म सिंचाई मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ह विभाग ल दीन बधाई।
राज्य के अवार्ड झोंक के दिल्ली ले लहुटे सचिव सोनमणि बोरा ह विभागीय अफसर मन के संग के मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ले करिन मुलाकात।

रायपुर, 22.03.2018। प्रदेश के सिंचाई अउ कृषि मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ले आज प्रतिष्ठित पत्रिका कोति ले देहे गए राष्ट्रीय वाटर डाइजेस्ट अवार्ड लेके दिल्ली ले लहुटे सिंचाई विभाग के सचिव सोनमणि बोरा ह मुलाकात करिन अऊ अवार्ड ल सौउपिन। श्री अग्रवाल ह ए उपलब्धि म सचिव सोनमणि बोरा संग उपस्थित विभागीय अफसर मुख्य अभियंता एसवी भागवत, अधीक्षण अभियंता एसके ध्रुव, कार्यपालन अभियंता एके श्रीवास्तव,एके नत्थानी, अनुविभागीय अधिकारी गोपाल मेनन ल बधाई अउ शुभकामना दीन। श्री अग्रवाल ह कहिन कि जन सहभागिता के संग करे जात हमर सामुदायिक सूक्ष्म सिंचाई योजना ल आज देश ह सराहे हे। हमर काम देश के नज़र म हे। जल संसाधन के क्षेत्र म  शासकीय वर्ग म “बेस्ट कम्यूनिटी प्रोजेक्ट आफ द ईयर” के सम्मान निश्चित ही गौरवान्वित करइया हे। बृजमोहन ह कहिन कि हमर लक्ष्य हर किसान मन के खेत तक पानी पहुंचाए के हे।



उमन बताइन कि छत्तीसगढ़ राज्य गठन के समय प्रदेश के निर्मित सिंचाई क्षमता 13.28 लाख हेक्टेयर रहिस जऊन अब 20.61 लाख हेक्टेयर हो गए हे। सिंचाई क्षमता 22 ले बढ़कर 36% हो गए हे। ये कहे जाय तो बड़ई नइ होही के सिंचाई क्रांति के शुरुआत अब इहां हो गए हे। छत्तीसगढ़ के किसान मन के दशा अऊ दिशा सुधारे के बात ले अइसनहे टपक सिंचाई योजना के नींव रखे गए हे जेखर पूरा होए के बाद लाभान्वित होवइया किसान मन के जीवन म तेजी के संग सकारात्मक बदलाव होही। हज़ारों छोट-मंझोल किसान परिवार म खुशहाली निश्चित तौर म देखे ल मिलही।

जन भागीदारी के सामुदायिक रूप ले टपक सिंचाई के हमर योजना बहुत सोंच-विचार के चालू करे गए हे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ह किसान मन के आय दुगुनी करे के जऊन दिशा निर्देश दिए हें। ओला ध्यान म रखके हम आगू के योजना बनावत हवन। हमर परखर मानना हे कि किसान मन के विकास के बिना देश के विकास नइ हो सकय। इही कारण हे कि अन्नदाता मन के जीवन ल समृद्ध बनाए बर हम सदैव तत्पर रहिथन। श्री वृजमोहन ह बताइन कि टपक सिंचाई के 65 योजना मन के शुभारंभ प्रदेश के आन जिला मन म शुरू करे जाही। जेकर तैयारी सुरू करे जात हे।


मुहाचाही:  फेर होइस गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड म दर्ज राजिम कुंभ के आयोजन